सुशील मोदी ने कहा- क्षेत्रीय दलों को जातिवादी और सिद्धांतहीन बताने वाले राहुल गांधी को जवाब दे RJD

5/17/2022 10:27:22 AM

पटनाः बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और भाजपा के राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने कहा कि क्षेत्रीय दलों को जातिवादी और सिद्धांतहीन बताने वाले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की बातों से यदि राष्ट्रीय जनता दल (राजद) झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो), शिवसेना और द्रविड़ मुन्नेत्र कषगम (डीएमके) जैसे उसके सहयोगी दल सहमत नहीं है तो उन्हें इसका जवाब देना चाहिए।

सुशील मोदी ने सोमवार को ट्वीट कर कहा कि राहुल गांधी का मानना है कि राजद जैसे क्षेत्रीय दल जातिवादी हैं। इनका न कोई सिद्धांत है, न कोई विचारधारा। उन्होंने कहा कि अब कांग्रेस के साथ गठबंधन करने वाले राजद, झामुमो, शिवसेना और डीएमके जैसे दल अगर राहुल गांधी से सहमत नहीं हैं, तो उन्हें इसका जवाब देना चाहिए। उन्होंने कहा कि झारखंड, महाराष्ट्र और तमिलनाडु में कांग्रेस क्षेत्रीय दलों के साथ सत्ता की मलाई काट रही है, लेकिन दूसरी तरफ वह अपने अहंकार में इन मित्र दलों का अपमान भी कर रही है। कांग्रेस में हिम्मत है, तो वह अगले सभी चुनाव अकेले लड़ने की घोषणा करे।

Koo App
कांग्रेस पहले 1948 में और फिर 1975 में आपातकाल के दौरान , दो बार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर प्रतिबंध लगा कर देख चुकी है कि ऐसे तानाशाही, सनकी और अलोकतांत्रिक उपायों से न संघ को दबाया जा सकता है, न उसकी राष्ट्रनिष्ठ विचारधारा को पराजित किया जा सकता है। देशभक्ति और भारतीय संस्कृति के प्रति अदम्य आदर रखने वाली संघ-भाजपा की विचारधारा से कांग्रेस चीन-पाकिस्तान और टुकड़े-टुकड़े गैंग का समर्थन अथवा राम मंदिर और धारा-370 का विरोध करते हुए कभी नहीं जीत सकती।
- Sushil Kumar Modi (@sushilmodi) 16 May 2022

भाजपा सांसद ने कहा कि कांग्रेस पहले 1948 में और फिर 1975 में आपातकाल के दौरान, दो बार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर प्रतिबंध लगा कर देख चुकी है कि ऐसे तानाशाही, सनकी और अलोकतांत्रिक उपायों से न संघ को दबाया जा सकता है, न उसकी राष्ट्रनिष्ठ विचारधारा को पराजित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि देशभक्ति और भारतीय संस्कृति के प्रति अदम्य आदर रखने वाली संघ-भाजपा की विचारधारा से कांग्रेस चीन-पाकिस्तान और टुकड़े-टुकड़े गैंग का समर्थन अथवा राम मंदिर और धारा-370 का विरोध करते हुए कभी नहीं जीत सकती।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramanjot

Related News

Recommended News

static