गयाः कोरोना से देश भर में मरने वालों की आत्मा की शांति के लिए हुआ सामूहिक पिंडदान

6/10/2021 6:01:09 PM

गयाः वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से मरने वालों की आत्मा की शांति के लिए गुरूवार को पूरे विश्व में ‘मोक्षनगरी' के रूप से विख्यात बिहार के गया धाम में पूरे विधि-विधान से सामूहिक पिंडदान किया गया। शिवानंद सत्संकल्प फाउंडेशन (हैदराबाद) और आंध्र-तेलंगाना भवन के प्रमुख संयोजक मनोहर लाल और परम सतगुरु श्री कंदुकुरी शिवानंद मूर्ति के तत्वावधान में अंत: सलिला फल्गु के तट पर कोरोना महामारी से जान गवाने वाले लोगों की आत्मा की मोक्ष प्राप्ति के लिए सामूहिक श्राद्ध एवं पिंडदान किया गया।

मनोहर लाल ने बताया कि तेलंगाना भवन की ओर से पिछली आठ पीढ़ी से दक्षिण भारतीय यात्रियों के पूर्वजों के लिए पिंडदान की व्यवस्था करते आए हैं। पिंडदान में अमावस्या तिथि का विशेष महत्व हैं। इसलिए आज अमावस्या तिथि के दिन इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी से मरने वाले लोगों की आत्मा की शांति के लिए सामूहिक पिंडदान एवं श्राद्ध कर्मकांड की प्रक्रिया पूरे विधि-विधान से की गई है। ताकि जिन लोगों की कोरोना से मृत्यु हुई है, उनकी आत्मा को मोक्ष की प्राप्ति हो सके।

वहीं, मनोहर लाल के पुत्र राहुल कुमार ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान कई लोगों के शव का अंतिम संस्कार विधि-विधान से नहीं हो पाया। इसी को ध्यान में रखते हुए सामूहिक पिंडदान एवं श्राद्ध कर्मकांड किया गया है। प्रमुख पुजारी गणेश शास्त्री के द्वारा पिंडदान की प्रक्रिया संपन्न कराई गई है। वहीं, स्थानीय पंडो द्वारा पिंडदान का संकल्प लिया गया है ताकि कोरोना से मरने वाले लोगों की आत्मा की शांति हो सके। पूरे धार्मिक मंत्रोच्चारण के साथ के साथ पिंडदान की प्रक्रिया संपन्न कराई गई। कार्यक्रम के दौरान सरकार द्वारा निर्धारित कोरोना गाइडलाईन का भी पालन किया गया। साथ ही पुजारियों एवं सहयोगियों को भी कोविड किट बांटी गई।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramanjot

Recommended News

static