महिला MLA समता देवी की झारखंड सरकार से अपील- 14 दिनों के पृथकवास से किया जाए मुक्त

9/3/2020 5:07:22 PM

रांचीः झारखंड की राजधानी रांची के रिम्स में भर्ती लालू प्रसाद यादव से मिलने पहुंची राजद विधायक समता देवी ने राज्य सरकार से अपील की। उन्होंने कहा कि सरकार उनको 14 दिन के पृथकवास मुक्त कर वापस गया जाने की अनुमति दी जाए।

गया में बाराचट्टी क्षेत्र से राष्ट्रीय जनता दल (राजद) विधायक समता देवी ने को बताया कि उन्होंने अपने पृथकवास के खिलाफ राज्य सरकार से आज अपील की है और पृथकवास के आदेश में छूट देकर गया वापस जाने की अनुमति मांगी है। रांची के अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट (कानून-व्यवस्था) अखिलेश कुमार सिन्हा ने सड़क मार्ग से यहां पहुंचीं विधायक समता देवी को उनकी एक सहयोगी महिला एवं दो अंगरक्षकों के साथ बुधवार को चौदह दिन के लिए पृथकवास में भेज दिया था। विधायक को उनके सहयोगी एवं अंगरक्षकों के साथ हटिया स्थित सरकारी अतिथिशाला में रखा गया है।

समता देवी ने आरोप लगाया, ‘‘रांची के स्थानीय प्रशासन ने राजद का होने के कारण उनके खिलाफ बदले की भावना से कार्रवाई की है। मैं दलित हूं और महिला हूं। अधिकारियों के समक्ष मैं गिड़गिड़ायी लेकिन उन्होंने रहम नहीं किया।'' इस संबन्ध में पूछे जाने पर राजद के प्रदेश अध्यक्ष अभय कुमार सिंह ने कहा कि विधायक के आने की उन्हें कोई सूचना नहीं थी और वह किन परिस्थितियों में यहां पहुंचीं इसके बारे में उन्हें कुछ नहीं पता है। कुमार ने बताया कि प्रशासन ने नियमानुसार जो कार्रवाई की है उसके बारे में वह कोई टिप्पणी नहीं करना चाहते हैं।

आधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को बताया था कि कोविड काल के नियमों के तहत विधायक को 14 दिन के लिये पृथकवास में भेजने की कार्रवाई की गई है। विधायक समता देवी ने दावा किया था कि वह रिम्स में किसी की चिकित्सा के उद्देश्य से पहुंची थीं और उन्हें पता नहीं था कि यहां पृथकवास का नियम है। उन्होंने कहा कि वह बिहार की दलित विधायक हैं और उनका उत्पीड़न किया जा रहा है। माना जा रहा है कि बिहार में आगामी विधानसभा चुनावों के मद्देनजर विधायक महोदया यहां न्यायायिक हिरासत में रिम्स में राजद अध्यक्ष लालू यादव के यहां पैरवी के लिए पहुंची थीं लेकिन विपक्ष के हमलावर रुख के दबाव में प्रशासन को उन्हें पृथकवास में भेजना पड़ा।

इस बीच रिम्स के अधिकारियों ने नाम न प्रकाशित करने की शर्त पर बताया कि प्रतिदिन बड़ी संख्या में राजद के कार्यकर्ता एवं नेता रिम्स निदेशक के बंग्ले के बाहर एकत्रित होते हैं और अनेक लालू यादव से भी सुरक्षाकर्मियों के सहयोग से मिलते हैं। इस बीच राजद के नेताओं ने भी नाम न प्रकाशित करने की शर्त पर स्वीकार किया कि लालू यादव के पास बिहार विधानसभा चुनावों के लिए राजद के टिकट के इच्छुक 250 से ज्यादा लोगों के बायोडाटा जमा हुए हैं जिसे लालू की स्वीकृति का इंतजार है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Diksha kanojia

Recommended News

static