Bihar Politics: फ्लोर टेस्ट से पहले बिहार की सियासत में मची खलबली, JDU ने अपने सभी विधायकों को पटना बुलाया

2/9/2024 4:45:33 PM

पटनाः बिहार की नई एनडीए सरकार का 12 तारीख को फ्लोर टेस्ट है। लेकिन उससे पहले राज्य की सियासत पर खलबली मची हुई है। इसी बीच जदयू ने अपने तमाम विधायकों को पटना आने के लिए कहा है। बताया जा रहा है कि शनिवार दोपहर नीतीश कुमार के करीबी मंत्री श्रवण कुमार के आवास पर दोपहर के भोज का आयोजन होगा। इसके साथ ही जदयू के विधायकों के साथ विश्वास मत को लेकर रणनीति भी बनेगी। 

मंत्री विजय चौधरी के आवास पर होगी बैठक 
फ्लोर टेस्ट से ठीक एक दिन पहले यानि 11 तारीख को जदयू ने विधायक दल की बैठक भी बुलाई है। इस बैठक में जेडीयू के सभी विधायकों को अनिवार्य रूप से शामिल होने के निर्देश दिए गए हैं। 11 तारीख को शाम 5 बजे संसदीय कार्य मंत्री विजय चौधरी के आवास पर विधायकों की बैठक होगी। इस मीटिंग के जरिए विधायकों को एकजुट रखने का प्रयास किया जाएगा। वहीं, बीती रात हुईआ बीजेपी की बैठक और डिनर पार्टी में भी सभी विधायकों को पटना में बने रहने के लिए कहा गया है। उधर, विधायकों के टूटने की आशंका के चलते बिहार कांग्रेस ने फ्लोर टेस्ट से पहले सभी को हैदराबाद भेजा दिया है। 

बिहार बीजेपी के नेता कर रहे थे यह दावा 
दरअसल, नीतीश की एनडीए में वापसी के बाद बिहार बीजेपी के नेता यह दावा कर रहे थे कि कांग्रेस के 10 विधायक हमारे संपर्क में हैं। इसके अलावा राजद के विधायक भाई वीरेंद्र ने भी 12 फरवरी को बड़ा खेला होने के दावा किया है। उन्होंने कहा कि जदयू के नाराज विधायक हमारे संपर्क में है। हालंकि, इसके जवाब में नीतीश कुमार के खास मंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि श्रवण कुमार ने कहा कि एनडीए के पास 128 विधायकों का बहुमत है और जो लोग खेल होने की बात कर रहे हैं। उनके पास मात्र 114 विधायक है ऐसे में बिहार में एनडीए की सरकार को कोई खतरा नहीं है। 

बता दें कि 243 सीटों वाली विधानसभा में राजद के पास 79 विधायक हैं। वहीं कांग्रेस के पास 19, सीपीआई (एम-एल)+सीपीआई+सीपीआई (एम) के पास 16 विधायक हैं। ऐसे में विपक्ष के पास कुल संख्या बल 114 विधायकों का है और एक विधायक एआईएमआईएम के पास है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramanjot

Recommended News

Related News

static