Bihar Flood: गंडक नदी में पानी छोड़े जाने के बाद बगहा के निचले इलाकों में आई बाढ़, सड़क किनारे रहने पर मजबूर हुए लोग

7/10/2024 12:43:16 PM

पश्चिमी चंपारण(अभिषेक कुमार सिंह): नेपाल और उतर प्रदेश की सीमा से होकर गुजरने वाली गंडक नदी में रविवार को 4 लाख 40 हजार क्यूसेक रिकॉर्ड पानी छोड़े जाने के बाद बगहा के कई निचले इलाकों में बाढ़ आ गई है। इसी बीच नदी थाना अंतर्गत नवका टोला बिनवलिया गांव में भी लोगों के घरों में बाढ़ का पानी घुस गया है। जिसके बाद ग्रामीण रतवल-धनहा को यूपी से जोड़ने वाली मुख्य सड़क किनारे टेंट और तंबू तानकर गुजर बसर कर रहे हैं, जिन्हें भोजन पानी के लाले पड़ गए हैं। हालांकि, प्रशासन ने मुनादी कर लोगों से ऊंचे स्थानों पर जाने की सूचना दे दी थी।

PunjabKesari

ग्रामीणों ने सड़क किनारे तंबू तानकर ली शरण
दरअसल, धनहा-रतवल पुल से होकर गुजरने वाली गंडक नदी के तराई में यह गांव बसा है। यहीं वजह है कि जैसे ही गंडक नदी में उफ़ान आया, वैसे ही नवका टोला और बिनवलिया गांव में बाढ़ ने दस्तक दे दी। लिहाजा घरों में बाढ़ का पानी घुसने के बाद ग्रामीणों ने मुख्य सड़क किनारे तंबू तानकर शरण ले ली है। बाढ़ पीड़ितों का कहना है कि तंबू में हीं उनका जीवन यापन चल रहा है। तीन चार दिनों से ये लोग सड़क किनारे तंबू में रह रहे हैं। इस बीच महज एक बार मुखिया द्वारा थोड़ा-थोड़ा चूड़ा और गुड़ का वितरण किया गया है। वे सड़क किनारे ही किसी तरह खाना बना और खा रहे हैं और बच्चों का पेट पाल रहे हैं।

PunjabKesari

'मुखिया ने ​कम्युनिटी किचन में खाने को कहा है, लेकिन...'
लोगों का कहना है कि मुखिया ने कम्युनिटी किचन में खाने को कहा है, लेकिन वह यहां से दूर है। लिहाजा हम लोग जा नहीं सकते हैं। ऐसे में अब सड़क किनारे रह रहे लोगों को बाढ़ का पानी कम होने का इंतजार है ताकि वे फिर अपने घरों में जाकर रह सकें।

PunjabKesari


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Swati Sharma

Related News

static