बिहार बजटः शिक्षा पर सबसे अधिक 38035.93 करोड़ का प्रस्ताव, जानिए किसके खाते में गई कितनी धनराशि

2/22/2021 6:47:29 PM

 

पटनाः बिहार में आज विधानसभा में नए वित्त वर्ष के लिए पेश कुल 2,18,303 करोड़ रुपए के बजट में से सबसे अधिक 38035.93 करोड़ रुपए शिक्षा विभाग को आवंटित करने का प्रस्ताव किया है।

उप मुख्यमंत्री सह वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने सोमवार को विधानसभा में वित्त वर्ष 2021-22 का बजट पेश करने के बाद आयोजित संवाददाता सम्मेलन में बताया कि अगले वित्त वर्ष 2021-22 का कुल व्यय बजट अनुमान 218302.70 करोड़ रुपए है, जो वित्त वर्ष 2020-21 के 211761.49 करोड़ रुपए से 6541.21करोड़ रुपए अधिक है। उन्होंने बताया कि बजट में सबसे अधिक 38035.93 करोड़ रुपए शिक्षा विभाग के लिए प्रस्तावित है। इसमें से 36971.29 करोड़ रुपए राजस्व मद में और 1064.64 करोड़ रुपए पूंजीगत मद के लिए प्रस्ताव किया गया है। तारकिशोर प्रसाद ने बताया कि 218302.70 करोड़ रुपए के बजट में वार्षिक स्कीम का कुल बजट अनुमान एक लाख करोड़ रुपए है। इसमें सुशासन के कार्यक्रम, आत्मनिर्भर बिहार के 7 निश्चय-2 (2020-25) के तहत वित्त वर्ष 2020-21 में विभिन्न विभागों में कुल 4671 करोड़ रुपए का बजट प्रावधान किया गया है। उन्होंने बताया कि स्थापना एवं प्रतिबद्ध व्यय मद में 117783.84 करोड़ रुपए का व्यय अनुमानित है।

वित्त मंत्री ने बताया कि वित्त वर्ष 2021-22 में राज्य का विकासात्मक व्यय 152267.24 करोड़ रुपए रहने का अनुमान है, जो कुल 218302.70 करोड़ रुपए का 69.75 प्रतिशत होगा। इसी तरह गैर विकासात्मक व्यय 66035.46 करोड़ रुपए रह सकता है। उन्होंने बताया कि आलोच्य वित्त वर्ष में राज्य को कुल 218502.70 करोड़ रुपए प्राप्ति होने का अनुमान है, जिसमें राजस्व प्राप्ति 186267.29 करोड़ रुपये और पूंजीगत प्राप्ति 32235.41 करोड़ रुपए शामिल हैं।
 


Content Writer

Nitika

Related News