लालू यादव बताएं कि 141 कीमती भूखंड, 30 फ्लैट और दर्जनों भवनों के मालिक कैसे बनेः सुशील मोदी

5/21/2022 11:23:10 AM

पटनाः बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री एवं भाजपा के राज्यसभा सांसद सुशील मोदी ने रेलवे भर्ती घोटाला मामले में पूर्व रेलमंत्री लालू प्रसाद यादव, उनकी पत्नी राबड़ी देवी और पुत्री मीसा भारती के खिलाफ केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की छापेमारी को लेकर कहा कि लालू यादव ने नौकरी के बदले जमीन लिखवाने के तरीके से सम्पत्ति बनाई है और सीबीआई दस्तावेजी सबूत के आधार पर कार्रवाई कर रही है।

सुशील मोदी ने शुक्रवार को कहा कि वर्ष 2008 में नौकरी के बदले जमीन लिखवाने का मामला राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के वर्तमान राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी और जनता दल यूनाइटेड (जदयू) अध्यक्ष ललन सिंह ने उठाया था। उन्होंने कहा कि शिवानंद तिवारी और ललन सिंह ने तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को ज्ञापन देकर राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के विरुद्ध जांच की मांग की थी।

भाजपा सांसद ने कहा कि लालू-राबड़ी का परिवार आज 141 कीमती भूखंड, 30 फ्लैट और दर्जनों भवनों का मालिक है। उन्होंने कहा कि गरीब परिवार से आने वाले लालू प्रसाद बताएं कि इतनी सम्पत्ति कहां से आई। उन्होंने कहा कि लालू यादव ने अमीर बनने के लिए तरीका अपनाया ‘तुम मुझे अपनी जमीन दो, मैं तुम्हें नौकरी दूंगा।' इस तरह उन्होंने जमीन-जायदाद बनाने के लिए सत्ता और मंत्री-पद का खुलकर दुरुपयोग किया।

सुशील मोदी ने कहा कि अवैध तरीके से सम्पत्ति बनाने के पुख्ता दस्तावेजी सबूत के आधार पर जब सीबीआई अपना काम कर रही है तब राजद इसे राजनीतिक रंग देने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने कहा कि जो ललन चौधरी विधान परिषद में और हृदय नाथ चौधरी रेलवे में चतुर्थ वर्गीय कर्मचारी है, पहले नौकरी के लाभार्थी से उनके नाम जमीन रजिस्ट्री करवा दी, और बाद में इन दोनों से करोड़ों की संपत्ति राबड़ी देवी और हेमा यादव के नाम से गिफ्ट करा दी।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramanjot

Related News

Recommended News

static