नीतीश मंत्रिमंडल में बाहुबलियों की भरमार, बिहार में डरावने दिनों की वापसी तय: सुशील मोदी

8/17/2022 2:41:25 PM

पटनाः बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने कहा कि महागठबंधन सरकार के मंत्रिमंडल में बाहुबलियों की भरमार कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रदेश में डरावने दिनों की वापसी सुनिश्चित कर दी है।

सुशील मोदी ने बयान जारी कर कहा कि सुरेन्द्र यादव, ललित यादव, रामानंद यादव और कार्तिकेय कुमार जैसे विधायक मंत्री बनाए गए, जिनके नाम से इलाके में लोग कांपते हैं। उन्होंने कहा कि इन लोगों पर आर्म्स ऐक्ट, यौन शोषण, हत्या के प्रयास और अपहरण जैसे गंभीर मामले दर्ज हैं। भाजपा नेता ने कहा कि नया मंत्रिमंडल पूरी तरह असंतुलित है। इसमें एम-वाई (मुस्लिम-यादव) समुदाय के 13 मंत्री (33 फीसद) हैं, जबकि कानू, तेली, कायस्थ, कलवार, कान्यकुब्ज ब्राह्मण समाज से एक भी मंत्री नहीं बनाया गया। उन्होंने कहा कि महागठबंधन-2 में राजपूत और मैथिल ब्राह्मण मंत्रियों की संख्या भी कम कर दी गई है।

मोदी ने कहा कि शेष जातियों को केवल प्रतीकात्मक प्रतिनिधित्व दिया गया। कोइरी समाज के केवल दो मंत्री बनाए गए और जो उपेंद्र कुशवाहा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की विरासत के दावेदार हैं, वे शपथ ग्रहण के समय नदारद थे। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की सरकार ने अतिपिछड़ा समाज की रेणु देवी को उपमुख्यमंत्री बनाया था, जबकि महागठबंधन में किसी अति पिछड़ा को उपमुख्यमंत्री नहीं बनाया गया।

भाजपा सांसद ने कहा कि वित्त विभाग राजद को मिलना चाहिए था। उन्होंने व्यंग्यात्मक लहजे में कहा कि इन सारी विसंगतियों के बावजूद लालू प्रसाद को धन्यवाद कि उन्होंने जनता का मनोरंजन करने के लिए बड़े पुत्र को भी मंत्री बनवा दिया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Nitika

Related News

Recommended News

static