राहुल गांधी को 'गीता' की प्रति भेजेंगे जायसवाल, बोले- वह विश्व के एकमात्र हिंदू जो चुनाव में मंदिरों का भ्रमण करते हैं...

11/14/2021 10:34:57 AM

पटनाः बिहार भाजपा के अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने शनिवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधा है। इसके साथ ही उन्होंने राहुल गांधी को भागवत गीता भेजने की बात कही है।

डॉ. संजय जायसवाल ने सोशल मीडिया पर लिखा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ सहित अनेकों स्वयंसेवी संस्थाएं हैं जो लगातार हिंदू समाज में एकता एवं व्यक्तियों में राष्ट्रीयता जगाने का कार्य करती हैं पर एक और तथाकथित राष्ट्रीय धर्मनिरपेक्ष संगठन है जिसका हिंदू समाज की एकता एवं स्वाभिमान जगाने में अहम योगदान रहता है। इस तथाकथित राष्ट्रीय धर्मनिरपेक्ष संगठन के संयोजक राहुल गांधी है एवं सहसंयोजक असदुद्दीन ओवैसी, सलमान खुर्शीद, दिग्विजय सिंह एवं कपिल सिब्बल हैं।

ये सब महानुभाव अपना मुंह खोलते हैं तो...
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि जब भी ये सब महानुभाव अपना मुंह खोलते हैं तो जो कार्य अनेक हिंदूवादी संगठन दिग्भ्रमित हिंदुओं के लिए नहीं कर पाते वह मात्र इनके मुंह खोलने भर से हो जाता है। इनके वक्तव्य से हिंदू समाज समझ जाता है कि उसे देश में किन शक्तियों के साथ रहना है और हिंदू समाज को बचाने के लिए एवं राष्ट्रीय एकता को बढ़ाने के लिए क्या निर्णय करना चाहिए। 

दो चुनाव से पूर्ण बहुमत प्राप्त कर रही है 
जायसवाल ने कहा कि भाजपा पिछले दो चुनाव से पूर्ण बहुमत प्राप्त कर रही है तो इसमें माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी एवं भाजपा के लाखों कार्य कार्यकर्ताओं का अतुलनीय योगदान है, पर इसमें राहुल गांधी, दिग्विजय सिंह, ओवैसी एवं सलमान खुर्शीद जैसे लोगों के व्यक्तव्यों के योगदान को भी नकारा नहीं जा सकता। सलमान खुर्शीद के बाद कल राहुल गांधी के वक्तव्य के लिए हिंदूवादी संगठनों को आभारी होना चाहिए की आम जनमानस में इनका वक्तव्य यह बताने में सक्षम हो गया कि अगर नरेंद्र मोदी जी नहीं रहेंगे तो यह देश किस दिशा में जाएगा। राहुल गांधी का कल का वक्तव्य मुझे मुन्ना भाई लगे रहो फिल्म का डायलॉग याद कराता है- 'GET WELL SOON'। 

राहुल गांधी जी को भागवत गीता भेज रहा हूं 
डॉ. संजय जायसवाल ने आगे कहा कि मैं माननीय राहुल गांधी जी को भागवत गीता भेज रहा हूं क्योंकि वह विश्व के एकमात्र हिंदू है जो बिना उपनयन संस्कार के भी जनेऊधारी हैं और चुनाव के मौसम में मंदिरों का भ्रमण भी करते हैं। हम हर उस व्यक्ति को हिंदू मानते हैं जो कहता है कि वह हिंदू है भले ही उसकी माता ईसाई हो और पिता पारसी।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramanjot

Related News

Recommended News

static