झारखंड में क्षेत्रीय भाषा की सूची से भोजपुरी और मगही भाषा को हटाना आश्चर्यजनकः CM नीतीश

2/20/2022 9:34:01 AM

नई दिल्ली/पटनाः बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने झारखंड के कई जिलों में क्षेत्रीय भाषा की सूची से भोजपुरी और मगही को हटाए जाने पर आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि इस निर्णय से वहां की सरकार में शामिल लोगों को ही नुकसान होगा।

नीतीश कुमार ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि आश्चर्य की बात है कि झारखंड सरकार ने इस तरह का फैसला लिया है। जिस कारण से भी उन्होंने यह फैसला लिया है, इससे वह अपना ही नुकसान कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बिहार और झारखंड एक ही साथ रहा है, दोनों का रिश्ता अलग होने के बाद भी टूटा नहीं है।

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘बिहार और झारखंड अलग हुए हैं, पर बोली एक ही है। बॉर्डर पर जाकर देख लीजिए, दोनों तरफ के लोग मगही और भोजपुरी बोलते हैं। पता नहीं किस कारण से ऐसा कर रहे हैं, इससे राज्य का हित नहीं होगा। बिहार और झारखंड का भले ही बंटवारा हो चुका है पर, इन दोनों राज्यों के लोग एक है। जिन्होंने भी यह निर्णय लिया है, उन्हीं को इसका नुकसान होगा।''


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramanjot

Related News

Recommended News

static