समस्तीपुरः एएनडी कॉलेज भारतीय संस्कृति में योग के महत्व पर परिचर्चा कार्यक्रम का आयोजन

5/25/2022 5:35:23 PM

 

समस्तीपुर: बिहार के समस्तीपुर जिले के एएनडी कॉलेज, शाहपुर पटोरी में बुधवार को भारतीय संस्कृति में योग का महत्त्व विषयक परिचर्चा का प्रधानाचार्य डॉ. जयशंकर प्रसाद की अध्यक्षता में आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में पाटलिपुत्रा विश्वविद्यालय के कॉलेज ऑफ आर्ट, साइंस एन्ड कॉमर्स (पटना) के प्रधानाचार्य प्रो. (डॉ.) तपन कुमार शान्डिल्य की उपस्थिति में हुई।
PunjabKesari
प्रारम्भ में प्रधानाचार्य में सभी अतिथियों का स्वागत किया एवं स्वागत भाषण में प्रधानाचार्य ने मुख्य अतिथि के विभिन्न उपलब्धियों को गुणगान करते हुए स्वागत किया गया तथा योग को बहुत हीं सूक्ष्म विज्ञान पर आधारित अध्यात्मिक विषय बताया, जो मन एवं शरीर के बीच सामंजन स्थापित करता है। इससे मन को शांति मिलती है एवं चेतना जागृत होती है। मुख्य अतिथि ने अपने भाषण में सर्वप्रथम कॉलेज के इतिहास एवं इससे संबंधित व्यक्तियों आचार्य नरेन्द्र देव एवं कर्पूरी जी के समाज के प्रति योगदान एवं कार्य की चर्चा की। आधुनिक युग की आवश्यकता ने तनाव को जन्म दिया है, जिसे योग से दूर किया जा सकता है।" योग तनाव को कम करने की औषधि है" भारतीय संस्कृति में सदियों से इसका महत्व रहा है। योग में बीमारीयों का इलाज है। वर्त्तमान समय में बौद्ध दर्शन, जैन दर्शन ने योग के दर्शन को स्वीकार किया गया है। तनाव के इलाज में योग हीं हथियार है। मंच का संचालन एनएसएस कार्यक्रम पदाधिकारी, डॉ. पूर्णिमा सिंह ने किया। अंत में वोट ऑफ थैंक्स डॉ. बसंत कुमार, विभागध्यक्ष शिक्षाशास्त्र विभाग ने दिया।
PunjabKesari
इस कार्यक्रम में डॉ. शशि भूषण कुमार, डॉ. रविन्द्र नाथ तिवारी, डॉ. मो. असलम, डॉ. प्रणव कांति, डॉ. मनिष कनौजिया, डॉ. गौतम कुमार, डॉ. माला कुमारी, डॉ. सुरिता कुमारी, डॉ. गुडडी कुमारी, गंगेश कुमार, डॉ. जया, रूची कुमारी, सोनम बाला, आनंद कुमार, श्याम लाल सिंह, दिलिप कुमार, अमरेश कुमार, अजय कुमार, संजय कुमार, भूपेष कुमार, राज कपूर सिंह, डॉ. दशरथ राय एवं काफी संख्या में महाविद्यालय के छात्र/छात्रा उपस्थित हुए।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Nitika

Related News

Recommended News

static