नीतीश ने की पक्षियों के साथ दुर्व्यवहार न किए जाने की अपील, कहा- पृथ्वी पर सभी जीवों का अधिकार

1/17/2021 3:03:27 PM

जमुईः पर्यावरण संरक्षण के लिए निरंतर प्रयासरत बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पक्षियों के साथ दुर्व्यवहार न किए जाने की अपील करते हुए कहा कि पृथ्वी पर मनुष्य के साथ पशु-पक्षी सहित अन्य सभी जीवों का भी अधिकार है।

नीतीश कुमार ने शनिवार को यहां नागी-नकटी पक्षी आश्रयनी में बिहार के प्रथम पक्षी महोत्वस ‘कलरव' का उद्घाटन करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि पृथ्वी पर मनुष्य के साथ पशु-पक्षी सहित अन्य सभी जीवों का भी अधिकार है। पक्षियों के बारे में लोग विस्तारपूर्वक जानेंगे तो उनका पक्षियों से और अधिक लगाव बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि पक्षियों के साथ दुर्व्यवहार नहीं करना चाहिए। इस आयोजन से नई पीढ़ी को काफी जानकारी मिलेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पृथ्वी के साथ-साथ पर्यावरण की रक्षा करना सबका दायित्व है। यहां की तरह ही बिहार में चार-पांच ऐसी जगहें हैं, जहां इस तरह का काम आगामी वर्षों में किया जाएगा। उन्होंने कहा कि उन्हें जिज्ञासा थी यहां आकर देखने और जानने की। उन्हें यहां आकर बहुत अच्छा लगा। आज के इस महोत्सव का उद्देश्य पशु-पक्षियों की सुरक्षा के संबंध में संदेश देना भी है।

सीएम नीतीश ने इससे पूर्व जनसभा में नई पीढ़ी से आह्वान करते हुए कहा कि पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक रहने की जरूरत है। जल-जीवन-हरियाली अभियान के माध्यम से भी वृक्षारोपण का काम तेजी से आगे बढ़ रहा है। झारखंड से अलग होने के बाद बिहार में हरित आवरण मात्र नौ प्रतिशत रह गया था। सरकार ने वर्ष 2012 से ही सघन वृक्षारोपण करना प्रारंभ किया, जिसका परिणाम है कि आज बिहार का हरित आवरण बढ़कर 15 प्रतिशत हो गया है। जल का संरक्षण और हरियाली बढ़ाने के लिए वर्ष 2019 से जल-जीवन-हरियाली अभियान की शुरुआत की गई है। इससे जल और पर्यावरण संरक्षण के प्रति लोगों में काफी जागृति आई है। इस अभियान को लेकर 19 जनवरी 2020 को पूरे बिहार में पांच करोड़ 16 लाख से अधिक लोगाों ने अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर 18 हजार किलोमीटर से भी लंबी मानव श्रृंखला बनाई।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Ramanjot

Related News

Recommended News

static