नीतीश के खिलाफ रची जा रही साजिश, प्रधानमंत्री BJP के विधायक को बनाना चाहते हैं CM: औवैसी

10/25/2020 11:02:18 AM

कैमूरः एआईएमआईएम (AIMIM) के नेता असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने शनिवार को दावा किया कि नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के खिलाफ भाजपा (BJP) साजिश रच रही है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा के विधायक को मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं।

असदुद्दीन ओवैसी ने यहां चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘भाजपा पूरी कोशिश कर रही है और नीतीश कुमार को रिटायरमेंट होम में डालने वाली है।'' उन्होंने कहा, ‘‘मैं नौजवानों से अपील करना चाहता हूं कि वे बिहार की जनता तक यह बात पहुंचा दें कि नरेंद्र मोदी भाजपा के एमएलए को मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं।'' आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लमीन (AIMIM) के नेता ने आरोप लगाया कि नीतीश कुमार नाकाम साबित हुए हैं और अब वे कुछ नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि भाजपा ने कहा है कि वह 19 लाख नौकरियां देंगी जबकि राजद ने कहा कि वे 10 लाख नौकरी देंगे लेकिन सवाल यह है कि इन दोनों ने 15-15 साल बिहार में राज किया और कितनी नौकरियां दीं।

ओवैसी ने पूर्वी लद्दाख से लगी सीमा पर चीन के साथ गतिरोध को लेकर प्रधानमंत्री से सवाल किया कि चीन को उस इलाके से कब भगाया जाएगा। उन्होंने कहा ‘‘हम उन सभी बहादुर सिपाहियों को सलाम करते हैं जिन्होंने देश की एक एक इंच जमीन की हिफाजत करते हुए कुर्बानी दी लेकिन जिस मां ने अपने बेटे को खोया वह पूछ रही है कि हमारे बेटे की जान का बदला चीन से लिया या नहीं।'' औवैसी ने कहा कि बिहार की जनता राजद गठबंधन के 15 साल के शासन में पिसी, फिर मोदी और नीतीश के शासन काल में बेरोजगार बना दिया गया और गरीबी इनका मुकद्दर बना दिया गया है। उन्होंने कहा कि आपसे वादा करता हूं, उपेंद्र कुशवाहा को मुख्यमंत्री बनाइए, बिहार की जनता से इंसाफ होगा।

गौरतलब है कि राष्ट्रीय लोक समता पार्टी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा और एमआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने बिहार चुनाव में छह दलों का नया मोर्चा बनाया है। इस मोर्चा का नाम ‘ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेकुलर फ्रंट' रखा गया है। फ्रंट की ओर से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार उपेंद्र कुशवाहा को बनाया गया है। इस फ्रंट के अन्य दलों में मायावती की बहुजन समाज पार्टी, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी, समाजवादी जनता पार्टी डेमोक्रेटिक और जनतांत्रिक सोशलिस्ट पार्टी शामिल हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Ramanjot

Recommended News

static