ट्रेन से 55 लाख रुपए गायब होने के मामले में 2 जवान गिरफ्तार, कारोबारी ने रेलवे को किया था ट्वीट

3/28/2022 2:52:39 PM

बक्सरः बिहार के बक्सर में मगध एक्सप्रेस से चंडीगढ़ के एक कारोबारी के 55 लाख रुपए गायब होने का मामले में रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के दो जवान को गिरफ्तार किया है। राजकीय रेल पुलिस (जीआरपी) सूत्रों ने बताया कि मामले में मिले साक्ष्यों के आधार पर दो जवान को आरा आरपीएफ पोस्ट से गिरफ्तार किया गया। पूछताछ कर उनके निशानदेही पर छापेमारी की जा रही है। गिरफ्तार आरा में पदस्थापित आरपीएफ का जवान प्रेम कुमार और कामेंद्र कुमार है। वहीं, जीआरपी इस मामले में एक आरोपित को पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है।

उल्लेखनीय है कि 09 मार्च को चंडीगढ़ का रहने वाला पारस पोपलानी जमीन के कारोबार के लिए पटना आया है, जहां उसने जमीन के लिए पटना के रहने वाले एक कारोबारी सुल्तान को 55 लाख रुपए दिए था। जब वह जमीन देखा तो उसे जमीन पसंद नही आया। इसके बाद वह अपने पैसे की मांग किया। सुल्तान ने उसे एक बैग में 55 लाख रुपए दिया। साथ ही उसे उसके पैसों को पहुंचाने के लिए जितेंद्र कुमार को दिया। इसके बाद पारस पोपलानी, उसके दो अन्य साथी और जितेंद्र कुमार का टिकट मगध एक्सप्रेस के एसी बोगी के बी टू के सीट नम्बर 1, 2, 3, 4 पर हुआ।

बुधवार की देर शाम सभी ट्रेन में बैठ गए। ट्रेन पटना से खुल गई। जैसे ही ट्रेन बक्सर स्टेशन पर रुकी तो बक्सर में दो पुलिस के जवान आए और जितेंद्र कुमार रुपए से भरा बैग लेकर चले गए। पुलिस वालों के डर से कारोबारी पारस पोपलानी कुछ नही बताया। दूसरे कारोबारी ने रेलवे को ट्वीट कर इसकी जानकारी दिया। ट्वीट की सूचना के बाद अधिकारी हरकत में आए। वहीं कारोबारी ने लिखित आवेदन दिया, जहां दिल्ली जीआरपी ने आवेदन पटना भेज दिया। वहीं, बक्सर जीआरपी ने मामला दर्ज कराते हुए मामले में जांच की। सूत्रों ने बताया कि मामले की जांच करते हुए एक आरोपित जितेंद्र कुमार को पटना से गिरफ्तार किया। इसके बाद पुलिस अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी शुरू की।

इसी बीच कारोबारी पारस पोपलानी मामले को लेकर शुक्रवार को आरा कोर्ट पहुंचा तभी आरपीएफ का जवान प्रेम कुमार और कामेंद्र कुमार भी आरा कोर्ट में एक कैदी को लेकर गया था। आरपीएफ के जवान को देखते ही कारोबारी पारस पोपलानी उन्हें पहचान लिया औरर इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही जीआरपी थाने की पुलिस मौके पर पहुंच कर आरपीएफ जवानों को हिरासत में ले लिया। पूछताछ में जवानों ने बताया कि उन्हें 10 हजार रुपए दिया और कहा कि ट्रेन में जाली नोट है। केवल आपकों खड़े रहना है, बक्सर में उतार लेंगे। पूछताछ के बाद सभी को जेल भेज दिया। आरपीएफ के सीनियर कमांडेंट एस.के.एस राठौर ने यहां बताया कि 55 लाख गायब मामले में आरपीएफ के दो जवानों को अपराधियों को सहयोग करने में गिरफ्तार किया गया है। जवानों ने दस हजार रुपये लेकर अपराधियों का सहयोग किया था।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramanjot

Related News

Recommended News

static