5 साल पहले पटना से चोरी हुई बुलेट को चला रहा था झारखंड का दारोगा, एक मैसेज ने कर दिया खुलासा

12/26/2020 10:54:27 AM

दुमकाः बिहार की राजधानी पटना जिले से पांच साल पहले चोरी हुई बुलेट बाइक को झारखंड के दुमका जिले का एक दारोगा चला रहा था। इस बात का खुलासा एक मैसेज के जरिए हुआ। वहीं चोरी का बुलेट चलाने के आरोप में दुमका के मुफ्फसिल थाने में तैनात एएसआई को निलंबित कर दिया गया है।

बता दें कि साल 2015 में पटना के श्री कृष्णापुरी थाना क्षेत्र के निवासी दिवाकर कुमार की बुलेट बाइक चोरी हो गई थी। उन्होंने श्रीकृष्णापुरी थाने में शिकायत दर्ज करवाई, लेकिन 5 साल गुजर जाने के बाद भी उनकी बाइक नहीं मिली। इसके बाद उन्होंने बाइक मिलने की उम्मीद छोड़ दी थी। वहीं अचानक 3 दिसंबर 2020 को दिवाकर के मोबाइल पर एक मैसेज आता है और पता चलता है कि उनके बुलेट को झारखंड के दुमका का एक पुलिसवाला चला रहा है।

चोरी की बाइक को एएसआइ द्वारा चलाए जाने के मामले की पोल तब खुली, जब उसने बाइक की सर्विसिंग कराने के लिए इसके ऑथोराइज्ड सर्विस सेंटर में दिया। सर्विसिंग पूरी होने के बाद जब रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर मैसेज गया, तो उसके असली मालिक पटना के एएन कॉलेज के पास बोरिंग रोड के रहने वाले दिवाकर कुमार को अपनी रायल इनफिल्ड क्लासिक 350 (ब्लैक) के दुमका में होने की बात पता चली।

दुमका-भागलपुर रोड स्थित बुलेट शोरूम से दिवाकर के मोबाइल पर आए मैसेज में लिखा था कि उनकी बुलेट की सर्विसिग हो गई है और वह पेमेंट देकर अपनी बाइक ले जा सकते हैं। जब दिवाकर ने मैसेज में आए टोल फ्री नंबर पर फोन किया तो उन्हें इसकी पूरी जानकारी मिली। पूछने पर बुलेट शोरूम के कर्मचारियों ने कहा कि दुमका मुफस्सिल थाना के अखलाक खान नामक के एक पुलिस पदाधिकारी बुलेट लेकर आए थे और इसे सर्विस करने के लिए शोरूम में दिया है।

इसके बाद मामले की जानकारी पटना के श्रीकृष्णपुरी थाने में दी गई, जिसके बाद पुलिस ने और दुमका पुलिस से संपर्क साधने का अनुरोध किया। दुमका के एसपी अंबर लकड़ा के अनुसार मामले की जानकारी मिलते ही कार्रवाई कर पटना से चुराई गई बुलेट मोटरसाइकिल बरामद कर ली गई है और चोरी की बाइक रखने के आरोप में एएसआई अखलाक खान को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Ramanjot

Related News

Recommended News

static