लोकसभा के साथ विस चुनाव की बात तेजस्वी का शिगूफा, इसकी न कोई जरूरत है न ही कोई मंशा: सुशील मोदी

2/23/2024 10:43:13 AM

पटना: पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने कहा कि बिहार में इस वर्ष लोकसभा के साथ विधान सभा चुनाव कराने की न कोई मंशा है और न इसकी कोई जरूरत है, लेकिन तेजस्वी प्रसाद यादव विधायकों को डराने के लिए समय से पहले या मध्यावधि चुनाव का शिगूफा छेड़ रहे हैं। मोदी ने कहा कि इस वर्ष संसदीय चुनाव में एनडीए बिहार की सभी 40 सीटें और देश भर में 400 से अधिक सीटें जीत तक लोकप्रिय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में तीसरी बार सरकार बनाएगा। 

"प्रचंड बहुमत से सत्ता में लौटेगा एनडीए"
सुशील मोदी ने कहा कि बिहार में 10 लाख लोगों को सरकारी नौकरी और 10 लाख लोगों को रोजगार देने सहित सभी वादे पूरे करते हुए नीतीश सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी। मोदी ने कहा कि राज्य में विधानसभा चुनाव 2025 में अपने समय पर ही होंगे और एनडीए प्रचंड बहुमत से सत्ता में लौटेगा। असमय चुनाव की चर्चा कर अस्थिरता का माहौल बनाने वालों की मंशा सफल नहीं होगी। उन्होंने कहा कि अब न 1990 के दशक वाला रैली-रैला का जमाना है और न अब बूथ लूट कर कोई मतपेटी से जीत का जिन्न निकाल सकता है, इसलिए पटना में 3 मार्च को राजद की रैली का कोई असर होने वाला नहीं है। इसमें इंडी राहुल गांधी और सीताराम येचुरी भी आ जाएं तो भीड़ नहीं जुटेगी।

पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा कि राहुल गांधी हर तीन महीने पर विदेश में छुट्टी मनाने वाले नेता हैं। वे संसद का सत्र छोड़ कर विदेश चले जाते हैं। इस बार न्याय यात्रा छोड़ कर लंदन जा रहे हैं। जनता से कटे हुए ये लोग कभी गरीब का भला नहीं कर सकते।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramanjot

Recommended News

Related News

static