पटना में CM नीतीश और लालू यादव से मिले सीताराम येचुरी, विपक्षी एकता पर की चर्चा

9/22/2022 10:08:18 AM

पटनाः मिशन 2024 की तैयारी में गैर बीजेपी राजनीतिक दल, लगातार एक दूसरे से संपर्क करने में लगे हुए हैं। पहले नीतीश कुमार दिल्ली में जाकर सभी गैर बीजेपी राजनीतिक दलों के बड़े नेताओं से मुलाकात कर चुके हैं। वहीं अब मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) महासचिव सीताराम येचुरी ने बुधवार को पटना में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के प्रमुख लालू प्रसाद से अलग-अलग मुलाकात की और विपक्षी एकता पर चर्चा की। 

PunjabKesari

भारत एवं संविधान को बचाने पर हुई चर्चा 
जनता दल (यूनाइटेड) के नेता नीतीश कुमार ने इस महीने की शुरुआत में दिल्ली यात्रा के दौरान येचुरी से मुलाकात की थी। वाम नेता ने ट्वीट किया, “ जब मैंने पटना में नीतीश कुमार जी से मुलाकात की तो उन्होंने मेरा गर्मजोशी से स्वागत किया। हमने भारतीय संविधान और हमारे देश की एकता और अखंडता की रक्षा के लिए धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक ताकतों की व्यापक एकता की लामबंदी के लिए दिल्ली में की गई अपनी चर्चाओं को आगे बढ़ाया।” शाम को पटना पहुंचे येचुरी ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद से भी उनके घर जाकर मुलाकात की। येचुरी ने ट्वीट किया “पटना में लालू जी के साथ उनके घर पर बातचीत करना वाकई सुखद रहा।” वाम नेता ने कहा कि उन्होंने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री के साथ भारत एवं संविधान को बचाने के बारे में चर्चा की। उन्होंने आरोप लगाया कि लोगों के मौलिक अधिकारों पर हमले किए जा रहे हैं। माकपा नेता गुरुवार को यहां गांधी मैदान में पार्टी की 'भारत बचाओ' रैली को संबोधित करेंगे। 

PunjabKesari

"हमारा मकसद बीजेपी को सत्ता से बाहर करना"
दोनों नेताओं से मुलाकात के बाद बाहर निकले सीताराम येचुरी ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि नीतीश कुमार दिल्ली में हम लोगों से मुलाकात कर चुके हैं। हमारा एक ही मकसद है संविधान को बचाना और देश को बचाना। ऐसे में बीजेपी को सत्ता से हटाना ही होगा इसकी तैयारी में हम लोग जुटे हुए हैं। नेतृत्व के सवाल को लेकर सीताराम येचुरी ने कहा है कि पिछले इतिहास को देख लीजिए बिना नेतृत्व के देश में चुनाव हुए हैं और एक चेहरा भी मिला हुआ है 1996 में जब एनडीए मोर्चा बना, चुनाव हुए तो उसके बाद नेता के रूप में अटल बिहारी वाजपेयी को चुना गया। वहीं जब सत्ता में कांग्रेस आई, उस समय यूपीए का गठन हुआ था और अब इसी फार्मूले पर हम लोग चुनाव लड़ेंगे। हम सभी का एक ही मकसद है बीजेपी को सत्ता से बाहर करना।

PunjabKesari

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के चेहरे को लेकर जब पत्रकारों ने सीताराम येचुरी से सवाल किया तो उन्होंने कहा कि यह अच्छी बात है चेहरा हो सकते हैं लेकिन अभी सभी राजनीतिक दल एक साथ मिल बैठकर ही तय करेंगे देश का नेतृत्व कौन करेगा।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramanjot

Related News

Recommended News

static