Bihar Election: भागलपुर में निवर्तमान विधायक की जगह नवोदित प्रत्याशी दिखाएंगे जौहर

10/21/2020 3:31:44 PM

 

भागलपुरः बिहार में 28 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा के प्रथम चरण के चुनाव में ‘मिनी राजस्थान' के नाम से विख्यात भागलपुर जिले की कहलगांव और सुल्तानगंज सीट पर निवर्तमान विधायक की जगह एनडीए और महागठबंधन ने नवोदित प्रत्याशी पर भरोसा जताते हुए उन पर दाव लगाया है।

कहलगांव और सुल्तानगंज विधानसभा सीट उत्तर वाहिनी गंगा के तट पर है। कहलगांव से कांग्रेस के शुभानंद मुकेश के पहली बार चुनावी रणभूमि में उतरने से उनके पिता एवं बिहार विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष सदानंद सिंह की प्रतिष्ठा दाव पर लगी है। यहां से वर्ष 1969 से अबतक 9 बार निर्वाचित हो चुके सिंह इस बार अस्वस्थता की वजह से चुनाव नहीं लड़ रहे हैं। इस बार मुकेश की टक्कर भाजपा के पवन कुमार यादव के साथ मानी जा रही है। यहां से भागलपुर के जदयू सांसद अजय मंडल के भाई और राकांपा के अनुज कुमार मुकाबले को त्रिकोणीय बनाने रहे हैं। पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के सदानंद सिंह को चुनौती देने के लिए लोजपा के हिस्से आई इस सीट से पार्टी ने नये चेहरे नीरज कुमार मंडल को चुनावी अखाड़े में उतारा था। वहीं, टिकट पाने से वंचित भाजपा के युवा नेता पवन यादव निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनावी मैदान में उतर आए। सिंह ने मंडल को 21229 मतों के अंतर से पराजित किया था।

वहीं, भाजपा से बागी पवन कुमार यादव चुनावी समर में तीसरे नंबर पर रहे। इस बार यादव के पास कांग्रेस के किले कहलगांव को ध्वस्त करने की चुनौती है। कहलगांव सीट पर भी हर किसी की निगाह टिकी हुई होंगी कि आखिर कांग्रेस के किले में सेंधमारी करना किसी पार्टी के लिए संभव होगा या कांग्रेस अपनी परंपरागत सीट को बचाने में कामयाब होगी। कहलगांव सीट पर 13 पुरुष और एक महिला सहित 14 प्रत्याशी चुनावी समर में अपना भाग्य आजमां रही हैं। यहां कुल मतदाताओं की संख्या 3 लाख 30 हजार 798 है, जिनमें एक लाख 74 हजार 145 पुरुष और एक लाख 56 हजार 646 महिला तथा सात अन्य शामिल हैं। इस सीट से बसपा के कृष्ण कुमार मंडल, जाप के अनिल यादव और वंचित समाज दल के मनोज यादव अन्य प्रमुख प्रत्याशियों में शामिल हैं।
 


Nitika

Related News