उत्तराखंड की प्राकृतिक आपदा में लापता हुए पटना के इंजीनियर, पानी के तेज बहाव में हुए गायब

2/8/2021 1:32:04 PM

 

 

पटनाः उत्तराखंड के चमोली जिले में रविवार को प्राकृतिक ग्लेशियर टूटने से उत्पन्न परिस्थितियों से सोमवार सुबह तक भी निजात नहीं मिल सकी है। साथ ही अब तक लगभग 170 व्यक्तियों के लापता होने की जानकारी मिली है। वहीं इस आपदा में पटना के इंजीनियर भी लापता हो गए हैं।

इस आपदा में पटना के बिहटा के रहने वाले 28 साल के इंजीनियर मनीष कुमार भी लापता हो गए हैं। मनीष मूल रुप से बिहटा के रानीतलाब थाना के निसरपुरा गांव के रहने वाले हैं। वह हरिद्वार के जोशीमठ के पास ओम मेटल इंफ्राटेक पावर प्रोजेक्ट कंपनी में काम कर रहे थे। इसी बीच रविवार की देर शाम परिजनों को उत्तराखंड से फोन आया कि इस हादसे के बाद मनीष लापता हो गए हैं। वहीं कंपनी ने बताया कि मनीष पानी के तेज बहाव और मलबे में गायब हो गए हैं। मनीष के लापता होने की खबर सुनते ही घर में कोहराम मच गया।

बता दें कि उत्तराखंड के चमोली जिले की ऋषिगंगा घाटी में रविवार को ग्लेशियर के टूटने से अलकनंदा और इसकी सहायक नदियों में अचानक आई विकराल बाढ़ के कारण हिमालय की ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भारी तबाही मची है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Nitika

Recommended News

static