JAP अध्यक्ष की मांग- IAS रंजीत सहित BPSC प्रश्न-पत्र लीक मामले की हो CBI जांच

5/22/2022 12:46:37 PM

 

पटनाः जन अधिकार पार्टी (जाप) ने बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) की 67वीं संयुक्त (प्रारंभिक) प्रतियोगिता परीक्षा प्रश्न-पत्र लीक मामले में सरकार पर भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के अधिकारी रंजीत कुमार सिंह को बचाने का आरोप लगाते हुए पूरे प्रकरण की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से करवाने की मांग की।

जाप के अध्यक्ष एवं पूर्व सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाते हुए कहा किए बिहार सरकार बीपीएससी घोटाले में आईएएस अधिकारी रंजीत कुमार सिंह को बचा रही हैं। जांच एजेंसी छोटे-छोटे कर्मचारियों को पकड़कर मामले पर पर्दा डालने का प्रयास कर रही हैं। उन्होंने सरकार से बीपीएससी प्रश्न-पत्र लीक मामले में सीबीआई जांच की मांग की है।

पप्पू यादव ने कहा कि बीपीसीएसी प्रश्न-पत्र लीक मामले में आईएएस अधिकारी रंजीत कुमार सिंह और उनका कोचिंग मिशन 50 दोनों की भूमिका संदिग्ध है। पूर्व में भी इस कोचिंग की भूमिका संदिग्ध रही है। रणजीत कुमार ने अपने गुनाहों को छुपाने के लिए बीपीएससी की तैयारी पर दर्जनों किताबें लिखी है। इस वर्ष मार्च में आईआईएस रणजीत ने अपनी पुस्तकों का विमोचन पटना के एक निजी होटल में करवाया था, जिसमें शहर के सभी कोचिंग संस्थान के लोग मौजूद थे।

जाप अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि कोचिंग माफिया और रंजीत कुमार जैसे अधिकारियों की मिलीभगत से बिहार के युवाओं का करियर बर्बाद हो रहा है। बिहार के नौजवानों के अंदर गुस्सा है। जाप छात्र परिषद और युवा परिषद बीपीएससी का घेराव करेगी। उन्होंने कहा, 'हमारी मांग है कि सरकार इस घोटाले के खिलाफ सीबीआई जांच करवाए।'

पप्पू यादव ने कहा कि पार्टी इस घोटाले के खिलाफ उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाएगी। उन्होंने कहा कि आगामी 5 जून को पार्टी के राष्ट्रीय कोर कमेटी की बैठक होगी। एक जुलाई को वाल्मीकिनगर में चिंतन शिविर और 15 अगस्त को बिहार बचाओ रोजगार यात्रा निकलेगी।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Nitika

Related News

Recommended News

static