भागलपुर में संदिग्ध परिस्थिति में जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर हुई 11

3/21/2022 12:13:17 PM

 

भागलपुरः बिहार में भागलपुर जिले के अलग-अलग जगहों पर संदिग्ध परिस्थिति में जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 11 हो गई। पुलिस सूत्रों ने यहां बताया कि जिले के भवानीपुर सहायक थाना क्षेत्र के मथुरापुर गांव में राजेंद्र सिंह एवं गोविन्द साह, नारायणपुर गांव के शिक्षक मनीष देव कुमार और बलाहा गांव के अनिकेत कुमार को होली खेलने के बाद शनिवार की रात को अचानक उल्टी होने लगी। बाद में चारों की तबीयत बिगड़ने पर परिजनों ने उन्हें विभिन्न निजी अस्पतालों में भर्ती करवाया, जहां इलाज के दौरान रविवार को चारों की मौत हो गई। इधर मामले की जानकारी मिलने पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर छानबीन शुरू कर दी है।
PunjabKesari
सूत्रों ने बताया कि इसी तरह जिले के गोराडीह थाना क्षेत्र के मोहनपुर गांव में रोहित यादव एवं गुलशन यादव की तबीयत ख़राब होने के बाद शनिवार की देर रात को स्थानीय अस्पताल में भर्ती करवाया गया था, जहां इलाज के क्रम में दोनों की मौत हो गई। इसी क्षेत्र के घिया सालपुर गांव में रविवार को संतोष कुमार की मौत इलाज के दौरान हो गई। मृतकों के परिजनों ने बताया कि उनलोगो ने होली के मौके पर गांव के पास शराब पी थी और घर आने के बाद उल्टी शुरू होते ही तबीयत बिगड़ी गई थी। इधर मामले की सूचना मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शवों को पोस्टमार्टम के लिए भागलपुर के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज अस्पताल भेज दिया है।
PunjabKesari
इस बीच स्थानीय विधायक एवं प्रदेश कांग्रेस विधायक दल के नेता अजीत शर्मा ने जिले के विभिन्न हिस्सों में कथित जहरीली शराब पीने से यहां लोगों की हुई मौत के लिए जिला पुलिस एवं प्रशासन को जिम्मेवार ठहराया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में शराबबंदी को लागू करने में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विफल साबित हुए हैं। शराब तस्करों और स्थानीय पुलिस की मिलीभगत से अवैध शराब की आवाजाही एवं बिक्री बदस्तूर जारी है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Nitika

Related News

Recommended News

static