कवियित्री अनामिका को काव्य पाठ से रोकने पर गरमाई सियासत, BJP ने नीतीश पर लगाया ‘‘सांस्कृतिक पुलिसिंग'' का आरोप

11/27/2022 12:50:12 PM

पटनाः बिहार के सोनपुर मेला में आमंत्रित कवियित्री अनामिका अम्बर को काव्य-पाठ से रोकने के बाद राज्य की सियासत गरमा गई है। बिहार भाजपा ने शनिवार को नीतीश कुमार सरकार पर अपनी राजनीतिक विचारधारा के विरोधियों को राज्य में मंच पर प्रदर्शन करने से रोककर ‘‘सांस्कृतिक पुलिसिंग'' करने का आरोप लगाया है।

इस साल अगस्त में बिहार में सत्ता गंवाने वाली भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता निखिल आनंद ने एक बयान में दावा किया कि उत्तर प्रदेश की एक कवि अनामिका जैन अंबर को प्रसिद्ध सोनपुर मेले में उनके छंदों को पढ़ने से ‘‘रोका'' गया था। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य सरकार पर ‘‘सांस्कृतिक पुलिसिंग'' का आरोप लगाया। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की आत्मकथाओं के लिए जानी जाने वाली अंबर द्वारा सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट करने के बाद विवाद खड़ा हो गया जिसमें आरोप लगाया गया था कि कविता पाठ करने की उनकी अनुमति ‘‘प्रशासन द्वारा ग्यारहवें घंटे में वापस ले ली गई'' थी। उन्होंने कहा, ‘‘मैं रामधारी सिंह दिनकर की भूमि पर प्रस्तुति देने के अवसर से वंचित होने से बहुत दुखी हूं।''

अंबर ने दावा किया कि उसने पटना हवाई अड्डे पर अपनी वापसी की उड़ान का इंतजार करते हुए उन्हें अनुमति देने से इनकार करने पर बोलते हुए खुद का एक वीडियो शूट किया था। उन्होंने दावा किया, ‘‘यहां तक कि जिला प्रशासन के अधिकारी भी अपमानित दिखे जब उन्होंने मुझे ऊपर से मुझे रोकने के आदेश के बारे में बताया।''


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramanjot

Related News

Recommended News

static