Bihar Floor Test: RJD के बागी विधायक चेतन आनंद ने पार्टी नेतृत्व पर लगाए गंभीर आरोप

2/13/2024 9:51:25 AM

पटना: राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के बागी विधायक चेतन आनंद (Chetan Anand) ने सोमवार को पार्टी नेतृत्व पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने आरोप लगाया कि नीतीश कुमार सरकार के विश्वासमत हासिल करने से पहले पार्टी विधायकों को तेजस्वी यादव के घर पर रुकने के लिए कहना पार्टी नेतृत्व के विधायकों पर कम भरोसे को दर्शाता है। 

"राजद में करना पड़ा भेदभाव का सामना"
बाहुबली से नेता बने आनंद मोहन के बेटे चेतन आनंद ने यादव के ‘ए टू जेड' जो उच्च जातियों सहित समाज के सभी वर्गों के प्रति सद्भावना को दर्शाता है, के दावे पर भी सवाल उठाया और आरोप लगाया कि उन्हें राजद में भेदभाव का सामना करना पड़ा था। राजद विधायकों नीलम देवी और प्रह्लाद यादव के साथ विश्वास मत के पक्ष में मतदान करने वाले आनंद ने कहा, ‘‘काफी समय से मैं और मेरा परिवार पार्टी में भेदभाव का सामना कर रहे हैं। यह सिर्फ मेरे बारे में नहीं है। यहां तक कि महागठबंधन सरकार में मंत्री पदों के आवंटन में भी राजपूतों और भूमिहारों के साथ ऐसा बर्ताव किया गया था।'' आनंद राजपूत समुदाय से आते हैं और उनके पिता अपने दौर में समुदाय के युवाओं के बीच आदर्श माने जाते थे। नीलम देवी की शादी भूमिहार समुदाय से आने वाले एक गैंगस्टर और पूर्व विधायक अनंत सिंह से हुई है।

"परिवार से मिलने जाने की अनुमति भी नहीं दी"
अनंत सिंह के मोकामा आवास से विस्फोटक, हथियार और गोला-बारूद बरामद होने के बाद उन्हें गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) मामले में दोषी ठहराया गया है। आनंद ने कहा कि उनकी मां लवली आनंद (पूर्व सांसद) की राजद द्वारा अनदेखी की गई और पिता की रिहाई पर जब विवाद खड़ा हुआ तो उन्होंने (आनंद) अपमानित महसूस किया। आनंद के पिता तीन दशक पहले एक आईएएस अधिकारी की भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या किए जाने के मामले में दोषी करार दिए गए थे और उन्हें आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी। उन्होंने कहा, ‘‘जब मुझे दोपहर के भोजन के लिए आमंत्रित किए जाने के बाद रुकने (तेजस्वी के घर पर) के लिए कहा गया। मुझे अपने परिवार से मिलने जाने की अनुमति भी नहीं दी गई। स्पष्टतः मुझ पर भरोसा नहीं किया जा रहा था।'' 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramanjot

Recommended News

Related News

static