बिहार में बाढ़... चिता जलाने के लिए नहीं मिली सूखी जगह, अनाज रखने की कोठी पर किया अंतिम संस्कार

7/22/2021 9:56:02 AM

 

दरभंगाः बिहार में भारी बारिश क बाद बाढ़ का कहर इस देखने को मिल रहा है कि अब लोगों को अंतिम संस्कार तक करने के लिए भी सूखी जगह नहीं मिल पा रही है। ऐसी ही एक घटना दरभंगा जिले से सामने आई है, जहां पर एक व्यक्ति की चिता जलाने के लिए सूखी जगह न मिली। वहीं लोगों ने मजबूरन अनाज रखने की कोठी पर अंतिम संस्कार किया। इतना ही नहीं अंतिम परिक्रमा के लिए भी महिला के बेटों ने नाव का सहारा लिया।

जानकारी के अनुसार, कुशेश्वरस्थान के महिसाैत गांव में शिवनी यादव की लंबी बीमारी के बाद मौत हो गई थी। श्मशान घाट में पानी भरा हुआ था। ऐसे में पहले तो शव जलाने के लिए किसी दूसरी जगह की खोज की गई, लेकिन गांव बाढ़ के पानी से घिरा हुआ था। इसके बाद गांव के लोगों ने श्मशान घाट में ही अंतिम संस्कार करने का फैसला किया।

वहीं पानी में डूबे श्मशान घाट में बांस का मचान बनाया गया। मचान के ऊपर आग जलाने के लिए घर में अनाज रखने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली मिट्टी की बड़ी कोठी रखी गई। मिट्टी से बनी इस कोठी में शिवनी का शव रखकर उसकी चिता सजाई गई। बता दें कि गांव के लोगों की मदद से नाव के जरिए ही शव की अंतिम परिक्रमा की गई। इसके बाद शिवनी के बेटे रामप्रताप ने पिता को मुखाग्नि दी।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Nitika

Recommended News

static