फरियादी ने CM से लगाई गुहार, कहा- ''पिता नक्सली हैं तो उसकी सजा हमें क्यों? हमारा क्या दोष...

10/5/2021 3:37:16 PM

पटनाः ‘जनता के दरबार में मुख्यमंत्री' कार्यक्रम में सोमवार को गया जिले के गुरारू से एक फरियादी ने गुहार लगाते हुए कहा, 'हमारे पिता अगर नक्सली हैं तो उसकी सजा हमें क्यों दी जा रही है। इसमें हमारा क्या दोष है। इस पर नीतीश कुमार ने कहा कि किसी के पिता के नक्सली होने की सजा उसके पुत्रों को दिया जाना गलत है। 

CM बोले- पिता की सजा पुत्र को क्यों? 
दरअसल, युवक के पिता नक्सली हैं, इस वजह से दोनों भाइयों को प्राईवेट नौकरी से निकाल दिया गया है। कंपनी ने बताया कि आईबी (इंटेलिजेंस ब्यूरो) और पुलिस की रिपोर्ट पर आपको नौकरी से निकाला जा रहा है। आगे उन्होंने बताया कि दोनों भाइयों को नौकरी से निकाले जाने के बाद हमारी मां अवसादग्रस्त हो गई है। यह शिकायत सुनकर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह बात तो सही है कि पिता की सजा पुत्र को क्यों। इसके बाद उन्होंने तुरंत अधिकारियों से मामले की जांच करते हुए आगे कार्रवाई करने का निर्देश दिया। 

युवक बोला- पिता की जेल में की गई हत्या 
मुख्यमंत्री से अररिया जिले के फारबिसगंज से आए एक व्यक्ति ने सरकारी योजनाओं में भ्रष्टाचार के संबंध में शिकायत करते हुए कहा कि गड़बड़ी उजागर करने के बाद स्थानीय मुखिया ने एक महादलित महिला से झूठा केस करा दिया है। वे लोग हमारी जान के दुश्मन बने हुए हैं, हमारी रक्षा कीजिए। मुख्यमंत्री ने गृह विभाग को इस पर उचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया। नीतीश कुमार से हाजीपुर से आए एक युवक ने कहा कि उनकेे पिताजी की हाजीपुर जेल में हत्या कर दी गई। इसके बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

जेल में हत्या की बात सुनकर मुख्यमंत्री भी चैंक गए और उन्होंने सीधे पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) को इस मामले में समुचित कार्रवाई करने के निर्देश दिए। वहीं, हाजीपुर से आए एक दूसरे व्यक्ति ने मुख्यमंत्री से कहा कि उनकी जमीन पर भू-माफियाओं ने कब्जा कर लिया है। उन्होंने तीन-तीन बार थाना में आवेदन दिया लेकिन पुलिस ने केस दर्ज नहीं किया। उल्टे पुलिस ने उनके बागीचा में लगे पेड़ों को भू-माफियाओं से मिलकर कटवा दिया। मुख्यमंत्री ने डीजीपी को इस पर यथोचित कार्रवाई का निर्देश दिया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramanjot

Related News

Recommended News

static