सुशील मोदी की लोगों से अपील- कोविड नियमों का पालन करते हुए मनाएं अंतरराष्ट्रीय योग दिवस

6/18/2021 8:36:05 PM

पटनाः बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस कोविड नियमों का पालन करते हुए मनाने की अपील की। उन्होंने कहा कि बिहार के ऋषि पतंजलि का दिया योग निरोग रहने का विज्ञान है और यह किसी धर्म का हिस्सा नहीं है।

सुशील मोदी ने शुक्रवार को सोशल नेटवकिर्ंग साइट ट्विटर पर ट्वीट कर कहा कि कोरोना की वैश्विक महामारी के चलते लगातार दूसरे साल योग दिवस पहले की तरह नहीं मनाया जाएगा, लेकिन उस दिन सबको इसे अपने घरों में या कोविड नियमों का पालन करते हुए प्रशासन की अनुमति से कुछ सार्वजनिक स्थलों पर योगाभ्यास अवश्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि नियमित योग प्राणायाम करना वास्तव में निरोग रहने, आक्सीजन लेवल ठीक रखने और इम्यूनिटी बढाने का आयुर्विज्ञान है, किसी धर्म का हिस्सा नहीं।

भाजपा सांसद ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयास से संयुक्त राष्ट्र ने 2016 में पहली बार हर वर्ष 21 जून अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने की घोषणा की। इसे कई मुस्लिम देशों सहित दुनिया के 150 से अधिक देशों ने स्वीकार किया। उन्होंने कहा कि विश्व को योग के रूप में आरोग्य का अछ्वुत विज्ञान देने वाले ऋषि पतंजलि बिहार के थे और इसी राज्य के मुंगेर में अन्तरराष्ट्रीय का योग विद्यालय है। स्वामी सत्यानंद की प्रेरणा से स्थापित इस विद्यालय में प्रामाणिकता के साथ योग का प्रशिक्षण मिलता है और योग शिक्षक बनने लायक डिग्री भी दी जाती है।

सुशील मोदी ने कहा कि यह अनुभव किया गया कि नियमित योग करने वाले लोग औरों की अपेक्षा कोरोना से कम ग्रसित हुए। यह योग के प्रभाव का स्पष्ट प्रमाण है। उन्होंने कहा कि जो लोग कभी योग के विरुद्ध दुष्प्रचार कर रहे थे, वे आज कोरोना वैक्सीन पर भ्रम फैलाने के नित नए हथकंडे आजमा रहे हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramanjot

Related News

Recommended News

static