यूक्रेन से छात्रों की वापसी अभियान में 4 मंत्रियों को लगाना प्रधानमंत्री मोदी की बड़ी पहलः सुशील मोदी

3/1/2022 9:50:07 AM

पटनाः बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और भाजपा के राज्यसभा सदस्य सुशील मोदी ने कहा कि युद्धग्रस्त यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों की सुरक्षित और त्वरित वापसी के अभियान को अधिक प्रभावी बनाने के लिए यूक्रेन के चार पड़ोसी देशों में एक-एक केंद्रीय मंत्री को भेजने का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का फैसला अभूतपूर्व है।

सुशील मोदी ने सोमवार को ट्वीट कर कहा कि इससे पहले किसी आपदाग्रस्त देश से इतने बड़े पैमाने पर अपने नागरिकों की सुरक्षित वापसी के लिए इतना बड़ा अभियान नहीं चला था। उन्होंने कहा कि यूक्रेन जैसी विस्फोटक परिस्थिति में, जब कई देश अपने नागरिकों के लिए एडवाइजरी जारी करने से ज्यादा कोई मदद नहीं कर पाए, भारत अब तक डेढ़ हजार से ज्यादा लोगों को वापस लाने में सफल रहा।

Koo App
युद्धग्रस्त यूक्रेन में फँसे भारतीय छात्रों की सुरक्षित और त्वरित वापसी के अभियान को अधिक प्रभावी बनाने के लिए यूक्रेन के चार पड़ोसी देशों में एक-एक केंद्रीय मंत्री को भेजने का प्रधानमंत्री मोदी का फैसला अभूतपूर्व है। इससे पहले किसी आपदाग्रस्त देश से इतने बड़े पैमाने पर अपने नागरिकों की सुरक्षित वापसी के लिए इतना बड़ा अभियान नहीं चला था।
- Sushil Kumar Modi (@sushilmodi) 28 Feb 2022
Koo App
२/१. यूक्रेन जैसी विस्फोटक परिस्थिति में, जब कई देश अपने नागरिकों के लिए एडवाइजरी जारी करने से ज्यादा कोई मदद नहीं कर पाये, भारत अब तक डेढ हजार से ज्यादा लोगों को वापस लाने में सफल रहा। अब केंद्रीय मंत्रियों को अभियान में लगाने की पहल देश को विश्वास दिलाती है कि जो भी छात्र वहाँ फंसे हैं, वे जल्द ही अपनों के बीच होंगे।
- Sushil Kumar Modi (@sushilmodi) 28 Feb 2022
Koo App
यूक्रेन से लगने वाली रूसी सीमा के निकटवर्ती इलाकों में भी कुछ भारतीय रहते हैं, जो युद्ध की परिस्थिति में स्वदेश लौटना चाहते हैं। विदेश मंत्रालय को उनकी वापसी के लिए भी रास्ता बनाना चाहिए। यूक्रेन संकट के समय केंद्र और बिहार की सरकार छात्रों की वापसी के लिए 24 घंटे काम कर रही है। ऐसे में छात्रों और उनके परिजनों को धैर्य बनाये रखना चाहिए।
- Sushil Kumar Modi (@sushilmodi) 28 Feb 2022

भाजपा सांसद ने कहा कि अब केंद्रीय मंत्रियों को अभियान में लगाने की पहल देश को विश्वास दिलाती है कि जो भी छात्र वहां फंसे हैं, वे जल्द ही अपनों के बीच होंगे। उन्होंने आगे कहा, 'भारतीय कूटनीति, तिरंगा झंडा और प्रधानमंत्री मोदी का नेतृत्व दुनिया में कहीं भी रहने वाले भारतीय नागरिक की सुरक्षा की सबसे बड़ी गारंटी है।'

सुशील कुमार ने कहा कि यूक्रेन से लगने वाली रूसी सीमा के निकटवर्ती इलाकों में भी कुछ भारतीय रहते हैं, जो स्वदेश लौटना चाहते हैं। विदेश मंत्रालय को उनकी वापसी के लिए भी रास्ता बनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यूक्रेन संकट के समय केंद्र और बिहार की सरकार छात्रों की वापसी के लिए 24 घंटे काम कर रही है। ऐसे में छात्रों और उनके परिजनों को धैर्य बनाए रखना चाहिए।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramanjot

Related News

Recommended News

static