CM नीतीश ने बिहार में परियोजनाओं के उद्घाटन और शिलान्यास के लिए PM मोदी को दिया धन्यवाद

9/15/2020 6:56:35 PM

पटनाः बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नमामि गंगे और अमृत मिशन के तहत प्रदेश में विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया।

बिहार विधानसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से मंगलवार को नमामि गंगे परियोजना और अमृत मिशन के अंतर्गत राज्य में सात परियोजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास किया। आवासन तथा शहरी कार्य मंत्रालय तथा जल शक्ति मंत्रालय के तहत इन योजनाओं के अंतर्गत पटना में 43 एमएलडी क्षमता का बेऊर सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट एवं 37 एमएलडी क्षमता का करमलीचक सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट, छपरा जलापूर्ति योजना तथा सिवान जलापूर्ति योजना का उद्घाटन हुआ है।

वहीं मुंगेर जलापूर्ति योजना, जमालपुर जलापूर्ति योजना तथा मुजफ्फरपुर नदी तट विकास योजना का शिलान्यास किया गया। इस अवसर पर नीतीश ने अपने संबोधन में कहा कि नमामि गंगे और अमृत मिशन के लिए योजनाओं के उद्घाटन और शिलान्यास के लिए प्रधानमंत्री का धन्यवाद। खुशी की बात यह है कि इससे लोगों को शुद्ध पेयजल मिलेगा। अपने जीवन में गंगा नदी के महत्व का बखान करते हुए नीतीश ने कहा कि मेरा जन्म गंगा किनारे बख्तियारपुर में हुआ। बचपन में गंगा स्नान और गंगाजल सेवन रोजमर्रा का हिस्सा था। गंगा निर्मल और स्वच्छ थीं। लेकिन अब ऐसा नहीं है। हमें फिर से गंगा जल को वैसा ही बनाना है कि आने वाली पीढ़ियां उसमें स्नान कर सकें, उसे पी सकें। उन्होंने कहा कि पटना शहर के नाले के पानी को भी जल-मल शोधन संयंत्र (एसटीपी) के माध्यम से शुद्ध करने की योजना पर काम चल रहा है। शोधित जल का उपयोग सिंचाई के लिए किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने बेउर और करमलीचक में एसटीपी का शिलान्यास 14 अक्टूबर 2017 को किया था, और 3 साल में इसका काम पूरा हो गया है।

वहीं नीतीश कुमार ने कहा कि हर घर नल का जल' का काम राज्य में लगभग 80 प्रतिशत पूरा हो चुका है। ग्रामीण इलाकों में लगभग 81 प्रतिशत काम हो चुका है। उन्होंने कहा कि मेरा आग्रह है कि पर्यावरण के दृष्टिकोण से भी इस बात पर ध्यान देना होगा कि लोग पानी का सदुपयोग करें, इसका किसी भी हालत में दुरूपयोग न करें। उन्होंने कहा कि मुजफ्फरपुर में नदी तट विकास योजना के अंतर्गत बुढ़ी गंडक के घाट का सौंदर्यीकरण किया जा रहा है। यह नदी जल स्वच्छता के साथ-साथ पर्यटन के लिए भी उपयोगी होगा। सीएम ने कहा कि पटना के कई घाटों का सौंदर्यीकरण किया गया है।

 


Nitika

Related News