भाजपा ने BPSC पेपर लीक मामले को बताया सरकार की नाकामी, कहा- ऐसे टूटता है विद्यार्थियों का मनोबल

5/10/2022 1:29:07 PM

पटनाः भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) की 67वीं संयुक्त (प्रारंभिक) प्रतियोगिता परीक्षा का प्रश्न-पत्र लीक मामले को सरकार और प्रशासन की नाकामी बताया और कहा कि ऐसे प्रकरण से विद्यार्थियों का मनोबल टूटता है।

BPSC का प्रश्न-पत्र लीक होना दुर्भाग्यपूर्ण
भाजपा के राज्यसभा सांसद विवेक ठाकुर ने सोमवार को जारी बयान में कहा कि बीपीएससी का प्रश्न-पत्र लीक होना दुर्भाग्यपूर्ण है। यह परीक्षा अन्य परीक्षाओं से भिन्न है। इसमें उत्तीर्ण हुए परीक्षार्थी बिहार के भविष्य हैं इसलिए यह चिंता का विषय है। बीपीएससी का प्रश्न-पत्र लीक होना सरकार और प्रशासन की नाकामी को दर्शाता है। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि आखिर कब तक बिहार के नौजवानों के भविष्य के साथ खिलवाड़ होता रहेगा। परीक्षार्थियों ने बड़ी मेहनत से दूर से आकर परीक्षा दी लेकिन परीक्षा रद्द हो गया। इससे विद्यार्थियों का मनोबल टूटता है।

पेपर लीक मामले की हो उच्चस्तरीय जांच
ठाकुर ने व्यवस्था को सुद्दढ़ करने की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि इसकी क्या गारंटी है कि आगे प्रश्न-पत्र लीक नहीं होगा इसलिए इसे राजनीतिक द्दष्टिकोण से नहीं बल्कि बिहार के युवाओं के भविष्य को देखते हुए सरकार अविलंब इस व्यवस्था को सेक्युरिटी प्रूफ करने की दिशा में बढ़े, चाहे वह टेक्नोलॉजी के माध्यम से या अन्य माध्यम हो। उन्होंने कहा कि बिहार की शिक्षा व्यवस्था के राष्ट्रव्यापी अपमान को रोकना होगा। यह सभी का दायित्व है क्योंकि गैर सामाजिक तत्व निरंतर शिक्षा व्यवस्था को तिरस्कृत करने का प्रयास करते रहते हैं, उसी कड़ी में यह एक उदाहरण है। भाजपा सांसद ने प्रश्न-पत्र लीक प्रकरण की उच्चस्तरीय जांच कराए जाने की मांग की। उन्होंने कहा कि दोषी चाहे जो भी हो उसपर सख्त कार्रवाई की जाए ताकि आगे इसकी पुनरावृत्ति न हो।

गौरतबल है कि रविवार को राज्य के अलग-अलग केंद्रों पर आयोजित 67वीं संयुक्त (प्रारंभिक) प्रतियोगिता परीक्षा का प्रश्न-पत्र लीक होने का मामला सामने आया। सोशल मीडिया पर लीक प्रश्न-पत्र वायरल होने के बाद हरकत में आई बीपीएससी ने मामले की जांच के लिए त्रिसदस्यीय टीम का गठन किया। टीम ने महज तीन घंटे में जांच रिपोर्ट आयोग को सौंप दी। रिपोर्ट मे प्रश्न-पत्र लीक होने की पुष्टि के बाद आयोग ने परीक्षा रद्द कर दी।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramanjot

Related News

Recommended News

static