प्रशांत किशोर ने पूजा अर्चना के बाद किया ‘‘पदयात्रा' का आगाज, डेढ़ साल में तय करेंगे पूरे बिहार का सफर

10/2/2022 11:04:12 AM

पटनाः देश के लगभग सभी प्रमुख राजनीतिक दलों के लिए चुनावी रणनीति बनाने के बाद अब बिहार में अपने लिए राजनीतिक संभावनाओं की तलाश कर रहे प्रशांत किशोर ने वैदिक मंत्रोच्चार के साथ आज जन सुराज पदयात्रा का आगाज किया है। उन्होंने जन सुराज पदयात्रा के लिए पटना से पश्चिम चंपारण जाने से पहले पूजा अर्चना की। इसके बाद जन सुराज अभियान से जुड़े सैकड़ों लोगों के साथ वे भितिहरवा गांधी आश्रम के लिए रवाना हुए। यहां से उन्होंने 3500 किलोमीटर की ‘‘पदयात्रा'' शुरुआत की। 

इस पदयात्रा के दौरान प्रशांत किशोर लगभग 3500 किलो मीटर पैदल चलेंगे और बिहार के हर पंचायत तथा प्रखंड में पहुंचने का प्रयास करेंगे। इस पदयात्रा को पूरा करने में लगभग एक से डेढ़ साल तक का समय लगेगा और इस बीच वह पटना या दिल्ली नहीं लौटेंगे। पदयात्रा शुरू करने से पहले प्रशांत किशोर ने आज कहा कि स्वतंत्रता के बाद 50 के दशक में भारत के अग्रणी राज्यों में शामिल बिहार आज देश का सबसे पिछड़ा और गरीब राज्य है। आज गरीबी, अशिक्षा, बेरोजगारी और भ्रष्टाचार जैसी समस्याओं से लोगों का यहां बुरा हाल है। उन्होंने कहा कि अब समय है स्थिती को बदलने का और लोगों के जीवन में बेहतरी के लिए बिहार की व्यवस्था में आमूलचूल परिवर्तन का।

इस पदयात्रा के 3 मूल उद्देश्य
किशोर ने कहा कि इस संकल्प के साथ और आने वाले 10 सालों में बिहार को देश के शीर्ष 10 राज्यों की श्रेणी में शामिल कराने के लिए, जन सुराज का यह अभियान समाज के सही लोगों को जोड़कर, एक सही सोच के साथ, सामूहिक प्रयास के जरिए एक ऐसी व्यवस्था बनाने की कोशिश है, जिससे सत्ता परिवर्तन सही मायनों में व्यवस्था परिवर्तन का जरिया बने। उन्होंने कहा कि इस पदयात्रा के 3 मूल उद्देश्य हैं। पहला समाज की मदद से जमीनी स्तर पर सही लोगों को चिह्नित कर उनको एक लोकतांत्रिक मंच पर लाने का प्रयास करना। दूसरा स्थानीय समस्याओं और संभावनाओं को बेहतर तरीके से समझना और उसके आधार पर नगरों एवं पंचायतों की प्राथमिकताओं को सूचीबद्ध कर, उनके विकास का ब्लूप्रिंट बनाना। इस पदयात्रा का तीसरा मूल उद्देश्य बिहार के समग्र विकास के लिए शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, आर्थिक विकास, कृषि, उद्योग और सामाजिक न्याय जैसे 10 महत्वपूर्ण क्षेत्रों में विशेषज्ञों और लोगों के सुझावों के आधार पर अगले 15 साल का एक विजन डॉक्यूमेंट तैयार करना है।

वेबसाइट के जरिए मिल सकेगी पूरी जानकारी
प्रशांत किशोर ने कहा कि जन सुराज अभियान की आधिकारिक वेबसाइट शुक्रवार को शुरू की गई है। पदयात्रा और उससे जुड़ी सभी जानकारी अब कोई भी व्यक्ति इस वेबसाइट के जरिए प्राप्त कर सकेंगे। इसके साथ ही जो भी व्यक्ति जन सुराज अभियान या प्रशांत किशोर के साथ पदयात्रा से जुड़ना चाहते हैं वे वेबसाइट के माध्यम से अपना नाम दर्ज करवा सकते हैं। उन्होंने कहा कि पदयात्रा से जुड़ी सारी महत्वपूर्ण जानकारियां वेबसाइट के माध्यम से मिल सकेगी। देश दुनिया के किसी भी हिस्से में रहते हुए कोई भी सीधे डिजिटल तरीके से घर बैठे जन सुराज अभियान और इस पदयात्रा को बहुमूल्य योगदान दे सकता है। यह वेबसाइट हिन्दी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में उपलब्ध है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramanjot

Related News

Recommended News

static