Maner Assembly Seat: मनेर विधानसभा सीट के पिछले नतीजे II Bihar Election 2020

10/15/2020 3:36:25 PM

 

पटनाः बिहार के 243 विधानसभा सीटों में से एक मनेर विधानसभा सीट (Maner Assembly Seat) है। पटना जिले में स्थित यह विधानसभा क्षेत्र पाटलिपुत्र लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के अंतर्गत आता है।

बता दें कि इस सीट पर सीट साल 1952 में हुए विधानसभा चुनाव (Vidhan Sabha Chunav) में कांग्रेस के रामेश्वर प्रसाद शास्त्री चुनाव जीते। 1957 में कम्युनिष्ट पार्टी ऑफ इंडिया के श्रीभगवान सिंह चुनाव जीते। 1962 से 1972 तक इस सीट पर लगातार 4 बार कांग्रेस (Congress) का कब्जा रहा। 1962 में बुद्धदेव सिंह 1967 में राम नगीना सिंह यादव। 1969 में महाबीर गोप यादव और 1972 में दोबारा राम नगीना सिंह यादव चुनाव जीते। 1977 में इस सीट पर जनता पार्टी ने कब्जा जमाया और सूर्यदेव सिंह चुनाव जीते। 1980 में राम नगीना सिंह तीसरी निर्दलीय विधायक चुने गए। इसके बाद 1984 के उपचुनाव और 1985 में में राजमति देवी कांग्रेस (Congress) की टिकट पर विधायक (MLA) चुनी गईं। 1990 में भी कांग्रेस (Congress) का ही कब्जा रहा और श्रीकांत निराला विधायक (MLA) बने। 1995 में श्रीकांत निराला एक बार फिर से जनता दल की तरफ से चुनावी मैदान में उतरे और जीत गए। 2000 में यह सीट समता पार्टी के खाते में गई और भाई वीरेंद्र यादव विधायक (MLA) चुने गए। 2005 में एक बार फिर से श्रीकांत निराला राष्ट्रीय जनता दल (RJD) की तरफ से विधायक चुने गए। इसके बाद 2010 और 2015 में राजद के भाई वीरेंद्र यादव चुनाव जीते।

विधानसभा चुनाव 2015 के नतीजे
अब अगर आंकड़ों के हिसाब से बात करें तो साल 2015 के विधानसभा चुनाव (Vidhan Sabha Chunav) में इस सीट पर राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के भाई वीरेंद्र यादव ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) के श्रीकांत निराला को 22 हजार 828 वोटों से हराया और विधायक (MLA) चुने गए। भाई वीरेंद्र यादव को कुल 89 हजार 773 वोट मिले थे, जबकि दूसरे नंबर पर रहे श्रीकांत निराला को कुल 66 हजार 945 वोट मिले थे तो वहीं तीसरे स्थान पर 5 हजार 122 लोगों ने नोटा को चुना।
PunjabKesari
विधानसभा चुनाव 2010 के नतीजे
वहीं 2010 में हुए विधानसभा चुनाव (Vidhan Sabha Chunav) के परिणामों पर नजर डालें तो इस सीट पर राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के भाई वीरेंद्र यादव ने जेडीयू के श्रीकांत निराला को 9 हजार 601 वोटों से हराया और विधायक (MLA) चुने गए। भाई वीरेंद्र यादव को कुल 57 हजार 818 वोट मिले थे, जबकि दूसरे नंबर पर रहे श्रीकांत निराला को कुल 48 हजार 217 वोट मिले थे तो वहीं तीसरे स्थान पर रहे कांग्रेस (Congress) के अशोक गगन को कुल 5 हजार 540 वोट मिले थे।
PunjabKesari
विधानसभा चुनाव 2005 के नतीजे
वहीं 2005 में हुए विधानसभा चुनाव (Vidhan Sabha Chunav) के परिणामों पर नजर डालें तो इस सीट पर राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के श्रीकांत निराला ने जनता दल यूनाइटेड (JDU) के सच्चिदानंद राय को 4 हजार 131 वोटों से हराया और विधायक (MLA) चुने गए। श्रीकांत निराला को कुल 34 हजार 669 वोट मिले थे, जबकि दूसरे नंबर पर रहे सच्चिदानंद राय को कुल 30 हजार 538 वोट मिले थे, तो वहीं तीसरे स्थान पर रहे लोजपा (LJP) के भाई वीरेंद्र यादव को कुल 19 हजार 132 वोट मिले थे।
PunjabKesari
पिछले 3 चुनाव परिणामों पर नजर डालें तो इस सीट पर लगातार राजद (RJD) को ही जीत मिली है। 2 बार से तो लगातार भाई वीरेंद्र यादव इस सीट से विधायक चुने गए हैं। पिछली बार राजद, कांग्रेस (Congress) और जदयू (JDU) का गठबंधन था, लेकिन इस बार समीकरण थोड़ा बदल गया है। इस बार बीजेपी (BJP) और जदयू (JDU) एक बार फिर से गठबंधन में है। ऐसे में अब देखना होगा कि इस बार किस पार्टी को जीत मिलती है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Nitika

Related News

Recommended News

static