IAS अधिकारी से मिलकर RJD के पूर्व विधायक ने किया गैंगरेप, मांग भरकर बोला- आज से तुम मेरी पत्नी

11/19/2021 5:48:12 PM

पटनाः बिहार में आज से 5 साल पहले घटित हुआ एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने अफसरशाही का पर्दाफाश किया है। एक महिला ने राजद के पूर्व विधायक गुलाब यादव व आईएएस अफसर संजीव हंस पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। साथ ही महिला ने बताया कि दोनों आरोपियों ने उसके दुष्कर्म की वीडियो भी बनाई और अब उसे ब्लैकमेल कर रहे हैं। इस वीडियो के आधार पर उन्होंने महिला के साथ कई बार दुष्कर्म किया।

दरअसल, मामला साल 2016 का है। महिला ने बताया कि वह किसी काम के चलते विधायक गुलाब यादव से मिली थी जिसके  बाद यादव ने महिला को लालच भी दिया कि उसे महिला आयोग का सदस्य बना देगा। जब महिला विधायक के झांसे में आ गई तो उसने बंदूक की नोक पर पीड़िता के साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद जब महिला विधायक के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाने जाने लगी तो यादव ने सिंदूर मंगवाकर उसकी मांग भर दी और कहा कि आज से तुम मेरी पत्नी हो। विधायक ने आगे कहा कि मैं अपनी पत्नी को तलाक देदूंगा और तुमसे शादी कर लूंगा।

इसके बाद महिला फिर से उसके झांसे में आ गई, वहीं विधायक ने पीड़िता को पुणे के एक इंस्टीच्यूट में दाखिला करा दिया और वहां शिफ्ट कर दिया। कुछ दिनों बाद विधायक ने महिला को फोन किया और मिलने के लिए पुणे के एक होटल में बुलाया। उसने कहा कि मैंने अपनी पत्नी से तलाक ले लिया है और अब हम पुणे में रहेंगें व कोर्ट मैरेज करेंगे। फिर से एक बार महिला ने विधायक पर भरोसा कर के गलती की और उससे मिलने होटल पहुंच गई जहां वह पहले से ही आईएएस अधिकारी के साथ बैठा हुआ था। सभी ने मिलकर कमरे में ही खाना खाया जिसमें अधिकारी ने नशे की दवाई मिलाई थी और बाद में दोनों ने बारी-बारी से महिला के साथ दुष्कर्म किया और वीडियो भी बना लिया।

इस वीडियो के बल पर दोनों ने कई बार अलग-अलग होटलों में उसकेे साथ रेप किया। इस सब के बाद महिला की मुश्किलें कम नहीं हुई बल्कि और बढ़ गई क्योंकि वह गर्भवती हो गई थी। जब विधायक व अधिकारी को इस बात का पता चला तो उन्होंने बच्चा गिराने को कहा लेकिन युवती नहीं मानी ओर 2018 में  बच्चे को जन्म दिया। महिला ने जब पुलिस में इसकी शिकायत की तो इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई, बाद में उसने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। हार कर अब महिला ने तेजस्वी यादव से इंसाफ की गुहार लगाई है। साथ ही कहा है कि यदि उन्हें यकीन ना हो तो बच्चे और उन दोनों का डीएनए टेस्ट करवाकर देख लिया जाए। वहीं महिला ने आगे कहा कि उसे जान से मारने की धमकियां दी जा रहा है यदि उसे कुछ भी तो उसका जिम्मेदार सिर्फ विधायक व अधिकारी होगा। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Diksha kanojia

Related News

Recommended News

static