कैमूर में सभी 4 सीटों पर BJP का कब्जा, महागबंधन सहित अन्य दलों को जीत की उम्मीद

10/21/2020 4:52:39 PM

 

पटनाः बिहार में 28 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा के प्रथम चरण के चुनाव में कैमूर जिले की सभी 4 सीटों पर एनडीए के घटक भाजपा के निवर्तमान विधायकों को महागठबंधन सहित अन्य राजनीतिक दलों के उम्मीदवार चुनौती देकर सीटों को अपने पाले में करने की जोर-आजमाईश कर रहे हैं।

रामगढ़ सीट से भाजपा के टिकट पर निवर्तमान विधायक अशोक कुमार सिंह चुनावी समर में फिर से जौहर दिखाने को बेताब हैं, वहीं उन्हें चुनौती देने के लिए राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के पुत्र सुधाकर सिंह पार्टी के उम्मीदवार बनाए गए हैं। बसपा ने अंबिका सिंह को चुनावी रणभूमि में उतार दिया है। वर्ष 2015 के चुनाव में अंबिका सिंह ने राजद के टिकट पर किस्मत आजमायी थी। भाजपा प्रत्याशी अशोक कुमार सिंह ने राजद प्रत्याशी अंबिका सिंह को 8011 मतों के अंतर से परास्त किया था। इस सीट 12 प्रत्याशी चुनावी समर में अपना भाग्य आजमां रहे हैं। इस सीट से महिला प्रत्याशी उम्मीदवार नहीं हैं। यहां कुल मतदाताओं की संख्या दो लाख 78 हजार 535 है, जिनमें एक लाख 45 हजार 137 पुरुष और एक लाख 33 हजार 395 महिला तथा 3 अन्य शामिल हैं। मोहनिया (सु) सीट से भाजपा के निवर्तमान विधायक निरंजन राम फिर से चुनावी मैदान में डटे हैं।

वहीं राजद की नयी प्रत्याशी संगीता देवी उनके साथ 2-2 हाथ करने को तैयार हैं। रालोसपा की नवोदित उम्मीदवार सुमन देवी भी टक्कर देने के लिए मैदान में हैं। पिछले चुनाव में भाजपा के राम ने कांग्रेस के संजय कुमार को 7581 मतों के अंतर से परास्त किया था। मोहनिया (सु) सीट पर 10 पुरुष और 3 महिला सहित 13 प्रत्याशी चुनावी समर में अपना भाग्य आजमां रही हैं। यहां कुल मतदाताओं की संख्या 2 लाख 69 हजार 571 है, जिनमें एक लाख 40 हजार 356 पुरुष और एक लाख 29 हजार 211 महिला तथा 4 अन्य शामिल हैं। भभुआ सीट पर वर्ष 2015 के चुनाव में भाजपा प्रत्याशी आनंद भूषण पांडेय निर्वाचित हुये थे। भाजपा प्रत्याशी आनंद भूषण पांडेय ने जदयू उम्मीदवार डॉ.प्रमोद कुमार सिंह को 7744 मतों के अंतर से मात दी थी। आनंद भूषण पांडेय के निधन के बाद रिक्त हुई सीट पर हुए उपचुनाव में उनकी पत्नी रिंकी रानी पांडेय भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ा और जीत हासिल की थी। भाजपा प्रत्याशी और निवर्तमान विधायक रिंकी रानी पांडेय इस सीट से फिर से ताल ठोक रही है।

राजद ने भरत बिंद जबकि रालोसपा ने वीरेन्द्र कुमार सिंह को उम्मीदवार बनाया है। वहीं, जदयू से टिकट नहीं मिलने से नाराज डॉ.प्रमोद कुमार सिंह निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनावी अखाड़े में उतर आए हैं। भभुआ सीट पर 12 पुरुष और दो महिला समेत 14 प्रत्याशी चुनावी समर में अपना भाग्य आजमां रही हैं। यहां कुल मतदाताओं की संख्या दो लाख 73 हजार 952 है, जिनमें एक लाख 42 हजार 228 पुरुष और एक लाख 31 हजार 717 महिला तथा 7 अन्य शामिल हैं। चैनपुर सीट से खनन मंत्री और भाजपा के निवतर्मान विधायक बृजकिशोर बिंद की प्रतिष्ठा दाव पर लगी हुयी है। महागठबंन की ओर से कांगेस ने प्रकाश कुमार सिंह को पार्टी का उम्मीदवार बनाया है, जो पहली बार चुनावी दंगल में उतरे हैं और भाजपा प्रत्याशी को चुनौती दे रहे हैं।

बता दें कि पिछले विधानसभा चुनाव में बिंद ने बसपा प्रत्याशी मोहम्मद जमां खान को बेहद कड़े मुकाबले में महज 671 मतों के अंतर से पराजित किया था। इस बार के चुनाव में भी बसपा ने मोहम्मद जमां खान को पार्टी का उम्मीदवार बनाया है। चैनपुर सीट पर 17 पुरुष और दो महिला समेत 19 प्रत्याशी चुनावी समर में अपना भाग्य आजमां रही हैं। यहां कुल मतदाताओं की संख्या 3 लाख 17 हजार 815 है, जिनमें एक लाख 65 हजार 723 पुरुष और एक लाख 52 हजार 91 महिला तथा एक अन्य शामिल हैं। 


Nitika

Related News